मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।

मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।

आईपीएल एक ऐसा टूर्नामेंट है जहां युवा खिलाड़ी अपने सपने पूरा करते है। कई खिलाड़ी अपनी परफॉर्मेंस दिखाकर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी तरफ खिंचती है और भारतीय टीम में खेलने का मौका पाते है। ऐसी कई खिलाड़ी है जो आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके आज मौजूदा भारतीय टीम का हिस्सा है। कई खिलाड़ी तो ऐसे है जो बेहद गरीब परिवार से आते है लेकिन लगातार संघर्ष करते हुए अपनी परफॉर्मेंस के बदौलत करोडपति बने है।

मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।
मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।

लेकिन आज हम आपको ऐसे खिलाड़ी के बारे में बताने जा रहे है जिसके पास खुद का घर नही है, इन्हें मुम्बई इंडियंस ने खरीदा है ऐसे बहुत कम खिलाड़ी होते ह जिन खिलाड़ियो के पास घर नही होता।

जी हां, हम बात कर रहे है तिलक वर्मा के बारे में। एक इंटरव्यू के दौरान तिलक वर्मा ने ये खुलासा किया तो सब चोंक गए। तिलक वर्मा ने कहा कि वो आईपीएल की सैलरी से अपना घर खरीदेंगे, और अपने घरवालों के सपना पुरा करेंगे।
शनिवार को हुए मुम्बई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के मुकाबले में तिलक वर्मा का बल्ला जमकर बरसा उन्होंने 33 बॉल पे 61 रन बनाए।
इस पारी में तिलक वर्मा ने 5 छक्के और 3 चौके जड़े। हालांकि वो मुम्बई इंडियंस को हार से न बचा सके।

मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।
मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।

तिलक वर्मा की इस पारी से क्रिकेट पण्डित काफी प्रभावित दिखे और बताया आने वाले समय का उभरा सितारा जल्द भारत के लिए खेलेगा।

आईपीएल की मेगा नीलामी में तिलक वर्मा को खरीदने के लिए कई फ्रैंचाइजियों के बीच रेस देखने को मिली थी। कई टीमो ने उन पर दांव लगाया। आखिरकार इस 19 वर्षीय खिलाड़ी को मुंबई इंडियंस ने 1.7 करोड़ रुपये में खरीदा।

मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।
मुम्बई इंडियन्स के लिए खेलने वाले इस खिलाड़ी के पास नही है खुद का घर, कहा जल्द सपना पूरा होगा।

हैदराबाद में इलेक्ट्रीशियन का काम करने वाले तिलक वर्मा के पिता नंबूरी नागराजू बेहद कम सैलरी पर काम करते है। वो अपने बेटे की क्रिकेट कोचिंग जारी रखने का जोखिम नहीं उठा सकते थे। इसलिए उनके कोच सलाम बयाश ने उनके सभी खर्चे का ध्यान रखा, उन्हें उचित प्रशिक्षण दिया और यहां तक कि उन्हें अपने सपनों को अपना बनाने के लिए सभी क्रिकेट उपकरण भी दिए।

About the Author: goanworld11

Indian blogger

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.