दुल्हन की रीड की हड्डी टूटने पर भी दुल्हे का प्यार नहीं हुआ कम, कर ली शादी!! जानिए रोचक कहानी

दुनिया में सबसे बड़ी ताकत प्यार होती है इंसान अपने प्यार के लिए कुछ भी कर सकता है हालांकि यह प्यार कैसा भी हो सकता है- मां बाप का, भाई बहन का, पति पत्नी का, दोस्ती का, या कोई भी हो लेकिन जहां प्यार होता है वहां किसी और चीज की गुंजाइश नहीं रह जाती है। ऐसे ही प्यार की एक मिसाल पेश की है प्रयागराज के रहने वाले अवधेश ने। जिन्होंने अपने होने वाली दुल्हन की रीड की हड्डी टूटने के बाद भी उसे अपनाने में जरा भी एतराज नहीं किया। अवधेश के इस कदम की चारों और सराहना की जा रही है।

दुल्हन की रीड की हड्डी टूटने पर भी दुल्हे का प्यार नहीं हुआ कम, कर ली शादी!! जानिए रोचक कहानी
दुल्हन की रीड की हड्डी टूटने पर भी दुल्हे का प्यार नहीं हुआ कम, कर ली शादी!! जानिए रोचक कहानी

शादी के दिन दुल्हन की टूट गई रीड की हड्डी

यह मामला उत्तर प्रदेश के प्रयागराज का है जहां एक शख्स ने मिसाल पेश करते हुए ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसे करने से लोगों के हाथ कांपते हैं। दरअसल हुआ यूं कि 8 दिसंबर को अवधेश और आरती शादी के पवित्र बंधन में बंधने वाले थे। लेकिन भगवान को इस खुशी में शायद कुछ और ही मंजूर था। जब बारात आने वाली थी उससे पहले दुल्हन आरती घर की छत पर खेल रहे भतीजे को नीचे लाने गई तभी वह छत से गिर गई और गिरने की वजह से उसकी रीड की हड्डी टूट गई। रीड की हड्डी टूटने से अब वह ना तो खड़ी रह सकती है और ना ही दोनों पैरों में जान बची है।

दुल्हन की रीड की हड्डी टूटने पर भी दुल्हे का प्यार नहीं हुआ कम, कर ली शादी!! जानिए रोचक कहानी
दुल्हन की रीड की हड्डी टूटने पर भी दुल्हे का प्यार नहीं हुआ कम, कर ली शादी!! जानिए रोचक कहानी

दूल्हे के घर वालों को जब इस बारे में पता चला तो उन्होंने दूल्हे अवधेश को बताया तथा सभी ने आग्रह किया कि वह अब शादी नहीं करें। लेकिन अब बारात वापस लेकर भी जाना मुनासिब नहीं होगा इसलिए सभी ने अवधेश को आरती की छोटी बहन से शादी करने का सुझाव दिया। अवधेश अपनी होने वाली पत्नी आरती को दिल दे बैठे थे और वो यह बात मानने को कतई तैयार नहीं थे कि वह किसी और से शादी करेंगे। उन्होंने किसी और से शादी करने के लिए मना कर दिया और कहा कि वह शादी करेगा तो आरती से ही करेगा और हमेशा उसी के साथ रहेगा।

फोटो में दिखाई दे रहा है कि शादी के जोड़े में और हाथों में मेहंदी लगाए हुए आरती अस्पताल में बेड पर लेटी हुई हैं। हालांकि अवधेश ने जिंदादिल इंसान होने का सबूत देते हुए अस्पताल में भर्ती और अपंग हो चुकी आरती से ही शादी की। यह खबर मीडिया में आने के बाद अवधेश की काफी प्रशंसा की जा रही है। अवधेश ने आरती को गोद में उठाकर सात फेरे लिए और इसके बाद दोबारा अस्पताल में भर्ती करवा दिया और हमेशा आरती का साथ देने का वचन लेते हुए आज तक वह अपनी पत्नी की सेवा कर रहे हैं।

About the Author: Raju RajuL

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.